Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.
Browsing Category

आर्टिकल

संतोषी सदा सुखी

संतोषी सदा सुखी!🌻 एक बार एक भिखारी किसी किसान के घर भीख माँगने गया।किसान की स्त्री घर में थी,उसने चने की रोटी बना रखी थी।किसान जब घर आया,उसने अपने बच्चों का मुख चूमा,स्त्री ने उसके हाथ पैर

सावन सोमवार की व्रतकथा व पूजा विधि

सावन सोमवार की व्रतकथा व पूजा विधि सावन माह का नाम आते ही हमारे मन में भी बादल घुमड़ने लगते हैं, ठंडी हवाओं के झौंके सुकून देने लगते हैं, तपती ज्येष्ठ और आषाढ़ में गरमी से बेहाल जी सावन में झूमने

शिव जी की किस विग्रह की पूजा से मिलता है क्या फल

शिव जी की किस विग्रह की पूजा से मिलता है क्या फल〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️🌼〰️〰️ श्रीलिंग पुराण〰️〰️〰️〰️जानिए शिव प्रतिमा के कौनसे स्वरुप के पूजन से पूरी होती हैं कौनसी इच्छाएं आमतौर पर भगवान शिव

जब भगवान शिव ने मगरमच्छ बनकर ली पार्वती की परीक्षा, एक पौराणिक कथा

जब भगवान शिव ने मगरमच्छ बनकर ली पार्वती की परीक्षा, एक पौराणिक कथा!!!!!!!~~~~माता पार्वती शिव जी को पति रूप में प्राप्त करने के लिए घोर तप कर रही थीं। उनके तप को देखकर देवताओं ने शिव जी से देवी की

भगवान राम पंडित रावन संवाद

भगवान राम - पंडित रावन संवाद हनुमान की तरफ कनखियों से देखते हुए रावन बोला, "राम, मैं महादेव शिव का भक्त ही नहीं, उनका दास भी हूँ | मुझे मात्र महादेव ही प्रिय हैं, किन्तु मैं देख रहा हूँ कि मेरे

कौन थी मंथरा

कौन थी मंथरा नामु #मंथरा मंदमति चेरी कैकइ केरि।अजस पेटारी ताहि करि गई गिरा मति फेरि॥ मन्थरा नाम की कैकेई की एक #मंदबुद्धि दासी थी, उसे अपयश की पिटारी बनाकर #सरस्वती उसकी बुद्धि को #फेरकर चली

इंद्रियों के प्रकार

इंद्रियों के प्रकार☝🏻 संस्कृत भाषा में इंद्रियों को करण कहा जाता है।〰️👉🏻 दूसरे शब्दों में इंद्रिया शरीर का ऐसा अवयव हैं जिनके द्वारा हम वाह्य एवम आंतरिक ज्ञान प्राप्त करते हैं।〰️👉🏻 इंद्रियों के

अमरनाथ की अमरकथा का रहस्य

अमरनाथ की अमरकथा का रहस्य !!!!! केदारनाथ से आगे है अमरनाथ और उससे आगे है कैलाश पर्वत। कैलाश पर्वत शिवजी का मुख्‍य समाधिस्थ होने का स्थान है तो केदारनाथ विश्राम भवन। हिमालय का कण-कण शिव-शंकर का

जब देवी सीता को उठाने पड़े हथियार

जब देवी सीता को उठाने पड़े हथियार!!!!!! ❣यह कथा आप नहीं जानते हैं जब राजा राम ने नहीं, देवी सीता ने चलाए बाण…. भगवान श्रीराम राजसभा में विराज रहे थे उसी समय विभीषण वहां पहुंचे। वे बहुत भयभीत और

श्री हनुमानजी के 10 रहस्य

श्री हनुमानजी के 10 रहस्य ……🔸🔸🔹🔸🔸🔹🔸🔸हिन्दुओं के प्रमुख देवता हनुमानजी के बारे में कई रहस्य जो अभी तक छिपे हुए हैं। शास्त्रों अनुसार हनुमानजी इस धरती पर एक कल्प तक सशरीर रहेंगे। हनुमानजी का जन्म