Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.
dalip

हरियाणा में होगी पहली जूनियर नेशनल बीच रेसलिंग चौंपियनशिप

0 29
Poonam


हरियाणा में होगी पहली जूनियर नेशनल बीच रेसलिंग चौंपियनशिप
भारतीय बीच कुश्ती के राष्ट्रीय सहसंयोजक बिजेंद्र लोहान का ऐलान

28 राज्यों सहित आठ केन्द्र शासित प्रदेशों की कुश्ती टीमें लेगी हिस्सा

हरियाणा दिवस के मौके पर आरंभ होगी दो दिवसीय यह चौम्पियनशिप
 
बीच रेसलिंग विजेता खिलाड़ी लेंगे वर्ल्ड चौम्पियनशिप में हिस्सा

फततह सिंह उजाला
गुरुग्राम।
 भारतीय कुश्ती संघ के तत्वावधान में होने वाली पहली जूनियर नेशनल बीच रेसलिंग चौंपियनशिप की मेजबानी का मौका हरियाणा को मिला है। दो दिवसीय इस चौंपियनशिप का आगाज हरियाणा दिवस 1 नवम्बर को हिसार जिले के ऐतिहासिक गांव मोठ स्थित सृष्टि इंटरनेशनल स्पोर्ट्स स्कूल नारनौंद के ग्राउंड में होगा। यह ऐलान भारतीय बीच कुश्ती के नवनियुक्त राष्ट्रीय सहसंयोजक बिजेंद्र लोहान ने किया। वे राष्ट्रीय सह-संयोजक बनने के बाद पहली बार गुरुग्राम में राह ग्रुप फाउंडेशन की से आयोजित सम्मान समारोह में हिस्सा ले रहे थे। इससे पहले राह क्लब गुरुग्राम की ओर से उनका अलग-अलग स्थानों पर स्वागत किया गया।

इससे पहले नव नियुक्त राष्ट्रीय सह-संयोजक बिजेंद्र लोहान ने बीच रेसलिंग जूनियर नेशनल चौम्पियनशिप की मेजबानी हरियाणा राज्य को देने व उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर महत्वपूर्ण दायित्व देने पर भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष सांसद ब्रिज भूषण शरण सिंह व बीच कुश्ती के नेशनल चेयरमैन डॉ. रोहताश सिंह नांदल का आभार जताया। लोहान के अनुसार पहली जूनियर नेशनल बीच रेसलिंग चौंपियनशिप में आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड व पश्चिम बंगाल की टीमें हिस्सा लेंगी। उन्होंने बताया कि जल्द ही इस चौम्पियनशिप का पूरा खाका जमीन पर उतारा जाएगा।

लोहान के अनुसार अखाड़े की कुश्ती कहे जाने वाली इस बीच कुश्ती में समय सीमा तीन मिनट होगी, जबकि अखाड़े का रेडियस सात मीटर होगा। उनके अनुसार पहले तीन पोंईट जीतने वाले खिलाडिय़ों को विजेता घोषित किया जाएगा। लडक़ों व लड़कियों की प्रथम जूनियर नेशनल बीच रेसलिंग चौंपियनशिप 17 से 20 आयु वर्ग के खिलाड़ी हिस्सा ले सकेंगे। इसमें लड़कियों के लिए 50 किलोग्राम, 60 किलोग्राम व 60 से अधिक भार वर्ग में मुकाबले होंगे, जबकि लडक़ों के लिए 60 किलोग्राम, 70 किलोग्राम, 80 किलोग्राम व 80 किलोग्राम से अधिक भार वर्ग रखा गया है। इस दौरान राह गु्रप फाउंडेशन के नेशनल चेयरमैन नरेश सेलपाड़, संरक्षक प्रवीन त्यागी, वाईस चेयरमैन सुरेश क्रांतिकारी, सचिव सोनू विसरवाल, किरण भुम्बक सहित भारी संख्या में पदाधिकारी व सदस्यगण मौजूद रहे।

Computer

सभी केंद्र शासित राज्यों की टीमें होगी शामिल
राष्ट्रीय सह-संयोजक बिजेंद्र लोहान के अनुसार प्रथम जूनियर बीच रेसलिंग चौम्पियनशिप में अंडमान व निकोबार, चंडीगढ़, दादरा और नगर हवेली, दिल्ली, लक्षद्वीप, पुडुचेरी, जम्मू कश्मीर, श्रीनगर व लद्दाख सहित सभी केंद्र शासित प्रदेशों की टीमें हिस्सा लेगी।

वर्ल्ड चौम्पियनशिप में मिलेगा अवसर
बीच कुश्ती के नेशनल चेयरमैन डॉ. रोहताश सिंह नांदल व बीच रेसलिंग हरियाणा के सह-संयोजक व केश कला एवं कौशल विकास बोर्ड के निदेशक नरेश सेलपाड़ के अनुसार जूनियर नेशनल बीच रेसलिंग चौंपियनशिप के विजेताओं को वर्ल्ड चौम्पियनशिप में भाग लेने का अवसर मिलेगा। श्री सेलपाड़ के अनुसार बीच रेसलिंग में किसी भी भार वर्ग में एक प्रदेश से मात्र एक ही खिलाड़ी भाग लेता है, जबकि सामान्य कुश्ती में स्टेट स्तर पर स्वर्ण, रजत व कांस्य पदक विजेताओं को भाग लेने के अवसर मिलते हैं।

cctv

Leave a Reply

%d bloggers like this: