Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.
Mahesh

दलित समाज की शमशान भूमि पर कब्जा व निर्माण को लेकर रोष

7
Deepak Kataria

दलित समाज की शमशान भूमि पर कब्जा व निर्माण को लेकर रोष

विभिन्न दलित संगठनों ने प्रदर्शन कर डीसी को सौंपा ज्ञापन

गलत तरीके से ट्रांसफ्रर डीड/रजिस्ट्रियां रद्द् करने की मांग

गलत तरीके से रजिस्ट्रियां रद्द् व एंव अवैध कब्जे के आरोप

फतह सिंह उजाला
गुरूग्राम। 
दलित समाज की मुख्य संस्थांए श्री धानक सभा, श्री गुरू रविदास सभा रजि0 97, जैकबपुरा, गुरूग्राम, भगवान वाल्मीकी सभा (रजि0) नई बस्ती गुरूग्राम, श्री कबीर मन्दिर सभा (रजि0), डा0 बी0आर0 अम्बेडकर सभा (रजि0), सैक्टर-04 एंव समस्त दलित समाज की सभाओं ने श्री गुरू रविदास मन्दिर, जैकबपुरा गुरूग्राम में इकठठा होकर मुख्य मार्गाे से होते हुए उपायुक्त कार्यालय, में दलित समाज बरगीयान (धानक), खाकराबान (वाल्मीकी), चमारान (जाटव) की मरघट (शमशान भूमि) खसरा नं. 184, 186 तथा 187 पर गलत तरीके से रजिस्ट्रियां रद्द् व एंव अवैध कब्जे को छुड़वाने बारे ज्ञापन सौंपा गया। यह श्मशान भूमि शक्ति नगर में पटौदी चौक पुलिस चौकी के पास स्थित है।

जालसाझी के खेल, होती रही रजिस्ट्रियां
ज्ञापन में बताया गया है कि दलित समाज मरघट (शमशान भूमि) के नाम से जानी जाने वाली भूमि पर गरीब बच्चो की शिक्षा एंव आवास हेतू डा0 बी0आर0 अम्बेडकर हरिजन छात्रावास बनाया गया था। इसकी स्थापना/शिलान्यास रखने हेतू कई गणमान्य व्यक्तियों जिनमें तत्कालीन मत्रिंयो को समय-समय पर बुलाकर करवाया गया। इस छात्रावास के केयरटेकर के रूप में खेमचन्द डाबला  पुत्र  नान्हड़ (धानक) को अस्थाई तौर पर देख-रेख हेतू रखा गया था । परन्तु कुछ वर्षाे पश्चात खेमचन्द डाबला  व उसके भाई  लक्ष्मी नारायण डाबला ने एक साजिश रचते हुए तीनो समाज की भूमि पर अवैध रूप से कब्जा करते हुए अनाधिकृत निर्माण कर लिया तथा नगर निगम गुरूग्राम से गलत तरीके से उक्त भूमि की प्रोर्पटी आई0डी0 भी तैयार करवाकर तहसीलदार की मिलिभगत से अवैध रूप से शमशान भूमि में से 2000 वर्गगज भूमि अपने दोनो पुत्रो राकेश कुमार एंव राजेश कुमार के नाम ट्रांसफर डीड वसीका नं0 8830 दिनांक 10.07.2015 के अनुसार करवा दी गई और खेमचन्द डाबला  के दोनो पुत्रो ने इस जालसाझी के खेल को जारी रखते हुए समय-समय पर अपनी बहन व अन्य रिश्तेदारों के नाम टुकड़ों में रजिस्ट्री कर अन्य भूमाफियांओ को बेच दी और इस भूमि पर बने छात्रावास को तोड़कर अवैध निर्माण कर लिया गया।

ढ़ाई वर्ष बीत जाने पर भी कार्रवाही नहीं
इसकी जानकारी जब समाज के कुछ प्रबुद्व व्यक्तियों को हुई तो उसकी शिकायत लिखित रूप में उपायुक्त गुरूग्राम व आयुक्त, नगर निगम गुरूग्राम को करते हुए इन साजिशकर्ताओं के विरूद्व अवैध रूप से आई0डी0 बनाकर की गई रजिस्ट्री को रद्द्  करवाने बारे व इस भूमि पर किये अवैध निर्माण को गिरवाने हेतू अनुरोध करते हुए उन सभी दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही करने का अनुरोध किया गया।
लेकिन लगभग ढ़ाई वर्ष बीत जाने के बाद भी नगर निगम द्वारा कई बार अवैध निर्माणों को तोड़ने के लिखित आदेश देने के बावजूद भी इनपर कोई कार्यवाही नही की गई है। इस सम्बन्ध में हमारे द्वारा माननीया मेयर, नगर निगम गुरूग्राम श्रीमती मधु आजाद जी को भी दिनांक 06 जून 2022 को उनके कार्यालय में मिलकर दरखास्त दी गई थी जिसे आदेश नगर निगम गुरूग्राम के उच्च अधिकारी को अवैध निर्माण एंव प्रोर्पटी आई0डी0 सम्बन्धी जांच के लिए निर्देश जारी कर दिये गये थे जोकि नगर निगम गुरूग्राम में अभी तक विचाराधीन है।

दोषियों के खिलाफ हो कठोर कानूनी कार्यवाही
शुक्रवार को को तीनो समाज (धानक, चमार, वाल्मीकी एंव समस्त दलित समाज) ने सयुंक्त रूप में एक ज्ञापन उपायुक्त महोदय को सौंपा जिसमें यह मांग की गई कि जितनी भी वासिकांए/रजिस्ट्रियां खसरा नं0 184, 186 तथा 187 हेतू की गई है उन्हे रद्द् किया जायें एंव इस पर भूमि पर किये गये अवैध निर्माण को जल्द से जल्द गिरवाया जाये तथा इन दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कानूनी कार्यवाही की जायें। इस मौके पर  अशोक आजाद (एडवोकेट), कैप्टन प्रेम सिंह, पूर्व पार्षद,  दिलिप साहनी, पूर्व पार्षद,  योगेन्द्र सारवान, पार्षद, नगर निगम गुरूग्राम,  प्रताप सिंह कदम (समाजिक कार्यकर्ता),  जोगेन्द्र सिंह प्रधान  गुरू रविदास सभा,  रतन लाल जी डा0 बी0आर0 अम्बेडकर सभा सैक्टर-04 गुरूग्राम,  सुल्तान सिंह चावरियां (भगवान वाल्मीकी सभा), डा के लाल प्रधान कबीर मदिंर सभा,  राकेश सहरावत पूर्व प्रधान (उर्फ रिंकू),  रविन्द्र कुमार प्रधान  धानक सभा जैकबपुरा गुरूग्राम,  कन्हैया लाल  (उप प्रधान गुरू रविदास सभा),  त्रिलोक सारवान,  जुगेश कुमार सारवान,  सुशील कुमार सौदा,  राजकुमार खैरालिया,  कुलदीप ,  दीपक एडवोकेट,  जितेन्द्र कुमार (धुले),  मुकेश कुमार,  जोगेश्वर ,  मदन मोहन,  ज्वाला प्रसाद,  राजेश कैम,  पुरू आजाद,  रूप कुमार गोठवाल,  हरि प्रकाश (महासचिव धानक सभा),  रामानन्द बाबलिया,  नंदलाल महावार,  आर0सी0 मोरवाल,  ओमप्रकाश सांेलकी,  ब्रहम प्रकाश खरेरा,  सतीश खरेरा,  मौजी राम खटक,  चंद खटक,  नानक चंद डाबला,  ओपी कायत,  हवा सिंह,  भरत कुमार अरूण,  विरेन्द्र तंवर,  कृष्ण कुमार,  राजकुमार ढीकवाल (उप प्रधान कबीर सभा), युद्ववीर साहनी,  नगेन्द्र कुमार,  मुकेश कुमार।

Mukesh Sharma

Comments are closed.

%d bloggers like this: